मुख्यपृष्ठ » एजुकेशनल » PAN Card क्या है पैन कार्ड क्यों बनाया जाता है

PAN Card क्या है पैन कार्ड क्यों बनाया जाता है

PAN Card क्या है पैन कार्ड क्यों बनाया जाता है : भारत सरकार के आयकर विभाग द्वारा जारी किये जाने वाला पैन कार्ड बहुत से मौकों में काम आता है। जैसे – आपको नया बैंक खाता खोलना हो। इसी तरह पैन कार्ड क्यों जरुरी है इसके बारे में आगे पूरी जानकारी दिया गया है। 

आपके पास पैन कार्ड है तो क्या इसमें अंकित 10 अंकों का पैन नंबर को आपने ध्यान से देखा है ? अगर नहीं तो आपको बता दें कि इसमें कुछ राज छिपे है। इसकी जानकारी आपको आगे पैन के बारे में रोचक तथ्य में बताया गया है। तो चलिए ऐसे ही उपयोगी जानकारी के साथ पैन कार्ड की पूरी जानकारी हिंदी में आपको बताते है। 

pan-ka-full-form-pan-card-ki-jankari

PAN Card Kya Hai – पैन कार्ड क्या है ?

PAN (Permanent Account Number) यानि स्थाई खाता संख्या भारत सरकार की आयकर विभाग द्वारा जारी किया गया लेमिनेटेड कार्ड है जिसमें 10 अंक का पैन नंबर यानि स्थायी लेखा संख्या अंकित होता है।

पैन कार्ड एक यूनिक पहचान पत्र होता है जो वित्तीय लेनदेन के लिए महत्वपूर्ण है। पैन कार्ड पर पैन कार्ड धारक का नाम , पिता का नाम, जन्म तिथि, हस्ताक्षर और फोटो छपा होता है। इसके साथ ही 10 डिजिट का पैन नंबर भी कार्ड पर मौजूद होता है।

पहले पैन कार्ड सिर्फ सरकारी कर्मचारी वर्ग का ही बनता था। लेकिन अब कोई भी समान्य व्यक्ति, संस्था या कंपनी पैन कार्ड बनवा सकते है। पैन कार्ड कैसे बनाये, व्यक्तिगत पैन कार्ड के लिए निर्धारित आयु सीमा क्या है, पैन कार्ड क्यों जरुरी है इन सभी सवालों का जवाब आगे आपको बताते है।

PAN Card Ka Full Form – पैन का फुल फॉर्म क्या होता है ?

क्या आपके पास एक पैन कार्ड है ? अगर हाँ तो क्या आपको पता है पैन का फुल फॉर्म क्या होता है ? अगर नहीं तो चलिए हम आपको बताते है –

  • P – Permanent
  • A – Account
  • N – Number

यानि pan card ka full form – Permanent Account Number होता है। GK क्वेश्चन में अकसर ये पूछा जाता है। तो इसे आप याद जरूर रखें। 

PAN Ka Pura Naam – पैन का पूरा नाम हिंदी में ?

pan card ki full form तो आप जान गए। लेकिन क्या आपको ये जानते है कि पैन को हिंदी में क्या कहते है ? चलिए इसके बारे में भी आपको बताते है।

पैन को हिंदी में – स्थाई खाता संख्या कहा जाता है। इसे स्थाई लेखा संख्या भी कहा जाता है। अब अगर आपसे कोई पैन का पूरा नाम पूछे तो फ़ौरन बता पाएंगे।

ध्यान दे कि pan ka full form और पैन का पूरा नाम हिंदी में ये दोनों अलग अलग है। अगर आप कभी इसे भूल जाये तो गूगल पर myandroidcity सर्च करके इस साइट पर आइये। ये जानकारी हमेशा इस वेबसाइट पर सुरक्षित रहेगा।

पैन कार्ड क्यों बनाया जाता है ?

बहुत लोगों के मन में ये सवाल आता है कि हम पैन कार्ड क्यों बनवाये ? आखिर ये पैन कार्ड क्या काम आता है ? अगर आपके मन में भी यही सवाल आ रहा है तो चलिए आपको बताते है –

  • नया बैंक खाता खोलने के लिए।
  • अचल संपत्ति की खरीद और बिक्री के पैन कार्ड जरुरी है।
  • मोटर वाहन की खरीद और बिक्री के लिए भी पैन कार्ड चाहिए।
  • LIC प्रीमियम का एक वित्तीय वर्ष में Rs. 50,000 से अधिक भुगतान करने के लिए।
  • क्रेडिट या डेबिट कार्ड के लिए आवेदन करने के लिए पैन कार्ड जरुरी है।
  • 50,000 रुपए से अधिक शेयरों में लेन देन हेतु पैन कार्ड चाहिए।
  • 50,000 रुपए से अधिक fixed deposit (FD) के लिए।
  • 25,000 रुपए से अधिक किसी होटल को भुगतान करने के लिए।
  • डीमैट अकाउंट खोलने के लिए भी पैन कार्ड मांगी जाती है।

ये सभी प्रमुख सर्विस है जिसका लाभ आपको लेना है तो आपके पास एक पैन कार्ड होना चाहिए। इस तरह आप समझ गए होंगे कि पैन कार्ड क्यों जरुरी है।

PAN Card Kaise Banaye – पैन के लिए आवेदन कैसे करे ?

आज पैन कार्ड बनवाना बहुत आसान हो गया है। आप स्वयं ऑनलाइन पैन कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते है। इसके लिए ये दो वेबसाइट उपलब्ध है –

या आप अपने शहर के सेवा केंद्र में जाकर भी पैन के लिए आवेदन कर सकते है। इसके लिए आपको निर्धारित फॉर्म को भरकर सबमिट करना होगा। आवेदन करने के बाद आपको Acknowledgement Number मिलता है। इसके द्वारा आप स्टेटस चेक कर सकते है कि आपका पैन कार्ड कब आएगा।

PAN Card Kitne Age Me Banta Hai – पैन कार्ड के लिए मिनिमम ऐज क्या है ?

पैन कार्ड के लिए अप्लाई करने से पहले आप जरूर जानना चाहेंगे कि pan card banane ke liye minimum age क्या है ?

वैसे तो पैन कार्ड बनवाने के लिए minimum age 18 वर्ष है लेकिन अब नाबालिग है तो भी पैन कार्ड के लिए अप्लाई कर सकता है। क्योंकि निवेश, अचल संपत्ति या म्यूच्यूअल फण्ड में नॉमिनी बनाये जाने की स्थिति में पैन कार्ड अनिवार्य है।

यानि किसी खास स्थिति में पैन कार्ड बनवाने के लिए 18 वर्ष पूर्ण होना जरुरी नहीं है। इसके लिए भी ऑनलाइन और ऑफलाइन आवेदन करने की दोनों सुविधा उपलब्ध है।

Interesting Facts About PAN Card – पैन कार्ड के बारे में रोचक तथ्य

आपके पास पैन कार्ड है तो उसमे 10 अंको का पैन नंबर भी होगा। क्या आप इस पैन नंबर को ध्यान से देखा है ? क्या इस नंबर में कोई मतलब छुपा है ? चलिए पैन नंबर के बारे में कुछ रोचक बात आपको बताते है –

  • भारत सरकार की आयकर विभाग द्वारा जारी सभी पैन कार्ड का नंबर 10 अंको का होता है। जैसे – ABCDE1234F.
  • 10 अंक का पैन नंबर में से पहला तीन नंबर A से Z के बीच होता है।
  • पैन नंबर का चौथा नंबर पैन कार्ड धारक के स्टेटस को दर्शाता है। आपके पैन नंबर का चौथा अक्षर का मतलब क्या है ये नीचे देखें –
  • C – Company.
  • P – Person.
  • H – HUF (Hindu Undivided Family).
  • F – Firm.
  • A – Association of Persons (AOP).
  • T – AOP (Trust) B – Body of Individuals (BOI).
  • L – Local Authority.
  • J – Artificial Juridical Person.
  • G – Government.
  • प्रायः सभी सामान्य पर्सन के पैन कार्ड का चौथा अक्षर P (Person) ही होता है।
  • व्यक्तिगत पैन कार्ड का पांचवां अक्षर उस व्यक्ति के सरनेम का पहला अक्षर होता है। जैसे किसी का नाम Rahul Sharma हो तो पैन नंबर का पांचवां अंक S होगा।
  • पैन नंबर का छठवें से लेकर नौवां नंबर 0001 से 9999 में से बीच का कोई भी नंबर होता है।
  • पैन नंबर का आखिर दसवां अंक भी एक सूत्र द्वारा निर्धारित किया जाता है। ये पिछले 9 डिजिट के द्वारा पता लगाया जाता है।

PAN Card क्या है पैन कार्ड क्यों बनाया जाता है, इसकी पूरी जानकारी इस आर्टिकल में बताया गया है। क्या ये जानकारी आपको पसंद आया ? क्या आपके पास पैन कार्ड है ? आपने पैन कार्ड को क्यों बनवाया है ? नीचे कमेंट बॉक्स में अपना विचार जरूर शेयर करें। 

पैन कार्ड की पूरी जानकारी हिंदी में आपको पसंद आये तो इस पोस्ट को नीचे शेयर बटन के द्वारा शेयर करना ना भूलें। इस साइट पर एजुकेशन से सम्बंधित ऐसे ही जानकारी शेयर किया जाता है। अगर ये साइट आपको पसंद आये तो गूगल पर myandroidcity सर्च करके दोबारा यहाँ आ सकते हो। Thank You !

1 thought on “PAN Card क्या है पैन कार्ड क्यों बनाया जाता है”

  1. Aapka post likhne ka tarika bahut hi achha hai. Aapne is post me pan card se releted sabhi topic ko cover kiya…. Achha post publish kiya hai aapne

    Reply

अपनी समस्या या सुझाव यहाँ लिखें