मुख्यपृष्ठ » बैंकिंग » OTP क्या होता है ? ओटीपी की पूरी जानकारी

OTP क्या होता है ? ओटीपी की पूरी जानकारी

OTP kya hota hai ओटीपी क्या है what is otp in hindi : बैंकिंग लेनदेन या अपने किसी डिजिटल अकाउंट में लॉगिन करने पर रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर में एक मैसेज प्राप्त होता है – 569847 is your SECRET One Time Password (OTP) आज इसका उपयोग अधिकांश डिजिटल अकॉउंट में लॉगिन या लेनदेन के लिए जा रहा है। गूगल अकाउंट, सोशल अकाउंट, वॉलेट अकाउंट आदि में ओटीपी वेरिफिकेशन का उपयोग किया जाता है। लेकिन आज भी अधिकांश लोग ओटीपी के बारे में उतना नहीं जानते, जितना उनको जानना चाहिए। इसलिए इस पोस्ट में OTP क्या होता है इसके बारे में पूरी जानकारी प्रदान कर रहे है।

आपने बैंक कस्टमर केयर नंबर पर कहते हुए ये जरूर सुना होगा कि अपना बैंकिंग लॉगिन आईडी जैसे – यूजरनेम पासवर्ड और ओटीपी कभी भी शेयर ना करें। तो आपसे ये क्यों कहा जाता है ये हम इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे। इसके साथ ही जानेंगे कि ओटीपी (OTP) का उपयोग क्यों किया जाता है और इसके फायदें क्या है। तो चलिए शुरू करते है।

otp-kya-hota-hai

OTP (One Time Password) क्या होता है ?

ओटीपी की फुल फॉर्म One Time Password (वन टाइम पासवर्ड) होता है। OTP एक ऐसा पासवर्ड है जिसे कंप्यूटर सिस्टम या अन्य डिजिटल डिवाइस पर केवल एक बार लॉगिन करने या लेनदेन के लिए मान्य किया जाता है। इसे One Time Password या डायनेमिक पासवर्ड के रूप में भी जाना जाता है। यह वन टाइम पासवर्ड एक निर्धारित समय सीमा के लिए जनरेट होता है। अगर समय सीमा में इसे एंटर नहीं किया गया तब ये एक्सपायर हो जाती है और इसे फिर से जनरेट करना होता है। इससे ऑनलाइन फ्रॉड और धोखाधड़ी से काफी हद तक बचा जा सकता है।

OTP जनरेशन की प्रक्रिया रैंडम होती है। इससे किसी अन्य व्यक्ति के द्वारा इसका अनुमान लगाना काफी मुश्किल होता है। अगर आपके किसी ऑनलाइन अकाउंट का लॉगिन पासवर्ड दूसरे व्यक्ति द्वारा पता लगा लिया जाता है तब भी वह डेटा को नुकसान नहीं पहुँचा पाता और अवैध लेनदेन नहीं कर सकता क्योंकि उनके पास OTP नहीं होता।

ओटीपी को हिंदी में क्या कहते हैं ?

ओटीपी को हिंदी में क्या कहते हैं चलिए इसके बारे में भी जानते है। O – One, T – Time, P – Password यानि ओटीपी का full form – One Time Password होता है और इसका हिंदी में मतलब समझें तो इस पासवर्ड को एक ही बार उपयोग कर सकते है। किसी अनजान व्यक्ति के द्वारा इसका गलत इस्तेमाल ना कर सकें इसलिए केवल इसे एक ही बार और निर्धारित समय सीमा के भीतर ही उपयोग किया जा सकता है।

ओटीपी कितने अंक का होता है ?

ओटीपी कितने अंक का होता है ये भी जानना आवश्यक है। देखिये ओटीपी अलग अलग प्लेटफार्म और अलग अलग वेरिफिकेशन के अनुसार अलग अलग अंकों का OTP भेजा जाता है। जैसे – OTP 4 अंक, 6 अंक और 8 अंकों का हो सकता है। जैसे – कोई सामान्य वेरिफिकेशन के लिए 4 अंक का ओटीपी भेजा जाता है, संवेदनशील वेब पोर्टल में एक्सेस के लिए 6 अंको का OTP प्राप्त हो सकता है और अगर बैंकिंग लेनदेन जैसे पैसे ट्रांसफर करना हो तब 6 से 8 अंको का ओटीपी पासवर्ड के द्वारा वेरिफिकेशन किया जाता है। अतः ओटीपी 4, 6 और 8 अंक का होता है जो आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी में प्राप्त होती है।

ओटीपी का नंबर क्या है ?

कई लोग ऐसे भी है जो ओटीपी के बारे में नहीं जानते है। अगर किसी वेरिफिकेशन के लिए उन्हें OTP भेजा जाता है तब वो परेशान हो जाते है कि इसे कहाँ से प्राप्त करें। देखिये आप जिस डिवाइस या वेब पोर्टल पर लॉगिन के लिए या लेनदेन के लिए OTP का नंबर जानना चाहते है वो आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर या ईमेल आई डी में भेजा जाता है। ज्यादातर OTP आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ही भेजा जाता है। इसलिए जब भी आपको OTP भेजा जाए, आप अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर SMS से प्राप्त ओटीपी को चेक करें। इससे आपको मालूम हो जायेगा कि ओटीपी का नंबर क्या है।

ओटीपी (OTP) का उपयोग क्यों किया जाता है ?

ओटीपी का उपयोग वास्तविक उपयोगकर्ता को वेरीफाई करने, हैकर से डाटा चोरी होने से बचाने, ऑनलाइन धोखाधड़ी से बचाने, इंटरनेट बैंकिंग में ऑनलाइन फण्ड ट्रांसफर को सुरक्षित बनाने के लिए किया जाता है। आपको हमने पहले ही बताया है कि otp वन टाइम पासवर्ड होता है जिसे एक बार निर्धारित समय सीमा के भीतर वेरीफाई करने के लिए किया जाता है। इससे डिजिटल रूप से स्टोर डाटा को और बैंकिंग सिस्टम को काफी हद तक सिक्योर किया जाता है।

क्या आपका इ-कॉमर्स वेबसाइट जैसे – अमेज़न, फ्लिपकार्ट या अन्य शॉपिंग साइट पर अकाउंट बना हुआ है ? अगर हाँ तो क्या आपने अपना डेबिट या क्रेडिट कार्ड आपके इस अकाउंट से लिंक किया गया है ? ज्यादातर लोग जो ऑनलाइन शॉपिंग करते है वे लोग अपने अकाउंट से डेबिट या क्रेडिट कार्ड लिंक किये रहते है। इससे वे शॉपिंग करते समय फ़ास्ट पेमेंट कर पाते है। जब ऑनलाइन पेमेंट करते है तब आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर एक ओटीपी प्राप्त होता है। इसे निर्धारित बॉक्स में भरकर वेरीफाई करने के बाद ही आपका पेमेंट सक्सेसफुल होता है।

मानलो ये ओटीपी का उपयोग ना किया जाए और आपके शॉपिंग अकाउंट का लॉगिन किसी अन्य को पता लग जाए ऐसे में क्या होगा आप समझ ही सकते है। ठीक इसी तरह बैंकिंग लेनदेन में ओटीपी का काफी महत्वपूर्ण रोल होता है। ये काफी संवेदनशील पासवर्ड है, इसलिए बैंक चिल्ला चिल्ला कर अपने ग्राहकों को बोलती है कि किसी से भी अपना लॉगिन आईडी और OTP शेयर ना करें। हमें उम्मीद है आप ओटीपी (OTP) का उपयोग क्यों किया जाता है ये समझ गए होंगे।

OTP से क्या फायदें होते है (Advantages of OTP in Hindi)

OTP से क्या फायदें होते है ये भी हमें जानना चाहिए। क्योंकि आज अधिकांश डिजिटल सर्विसेस में ओटीपी का उपयोग किया है। तो चलिए इसके Advantages के बारे में जानते है –

  • OTP हमारे डिजिटल अकाउंट जैसे – सोशल अकाउंट, गूगल अकाउंट, इंटरनेट बैंकिंग अकाउंट आदि को सुरक्षित रखता है।
  • अगर हमारे किसी अकाउंट का लॉगिन आईडी और पासवर्ड किसी अन्य को पता लग जाए तब भी हमें ज्यादा नुकसान झेलना नहीं पड़ता है। क्योंकि ओटीपी पासवर्ड के बिना संवेदनशील बदलाव या लेनदेन नहीं किया जा सकता है।
  • ओटीपी के द्वारा वास्तविक यूजर (उपयोगकर्ता) को प्रमाणित किया जाता है। इससे अनजान व्यक्ति द्वारा अकाउंट एक्सेस करने से बचाया जाता है।
  • ओटीपी सेकंड लेयर सिक्योरिटी होती है। अगर कोई आपके लॉगिन आईडी को पता लगा भी लेता है तब भी वो लॉगिन नहीं कर पाएंगे। क्योंकि सेकंड लेयर सिक्योरिटी कोड यानी OTP उसे नहीं मिलेगा। हमेशा अपने सोशल, गूगल आदि अकॉउंट में 2 स्टेप वेरिफिकेशन सर्विस हमेशा ऑन रखें।
  • OTP एक निर्धारित समय सीमा के लिए जनरेट होता है। यानि अगर इस समय सीमा के बाद कोई अन्य व्यक्ति OTP को जान भी लेता है, तब भी ये काम नहीं करेगा। यानि ये हमारे अकाउंट को स्ट्रॉन्ग सिक्योरिटी प्रदान करता है।

OTP का इस्तेमाल कहाँ कहाँ किया जा रहा है ?

OTP की महत्त्व और उपयोगिता को देखते हुए इसे अधिकांश डिजिटल अकाउंट के लिए उपयोग किया जाने लगा है। जैसे सभी बैंकिंग सर्विसेज के लिए इसका इस्तेमाल होता है। अगर आपको ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करना हो, घर बैठे एटीएम मंगवाना हो, बैंकिंग अकाउंट में कोई संवेदनशील बदलाव करना हो तब आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर ओटीपी भेजा जाता है। इसके साथ ही एटीएम सर्विसेज के लिए otp प्राप्त होती है।

गूगल अकाउंट के लिए 2 step verification सर्विस के द्वारा ओटीपी का उपयोग किया जाता है। अगर आपका एक गूगल अकाउंट है तब आप इसे इनेबल जरूर करके रखें। इससे आपके अकाउंट जैसे – जीमेल अकाउंट, गूगल ड्राइव अकॉउंट आदि को सुरक्षित रखा जा सकता है।

सोशल मीडिया जैसे फेसबुक पर भी ओटीपी का इस्तेमाल किया जा रहा है। शायद ऐसा कोई ही होगा जिसका आज फेसबुक अकाउंट ना हो। लेकिन अधिकांश लोग इसकी सिक्योरिटी का ख्याल नहीं रखते है। इससे उनका अकाउंट हैक हो जाता है। इसके बारे में न्यूज़ चैनल और समाचार पत्रों में आपने सुना ही होगा। इसलिए अपने प्रोफाइल में 2 step verification सर्विस को ऑन करके जरूर रखें।

ई कॉमर्स वेबसाइट जैसे अमेज़न, फ्लिपकार्ट भी अपने यूजर की सिक्योरिटी के लिए ओटीपी का उपयोग करते है। इससे ऑनलाइन शॉपिंग को सुरक्षित बनाया जा सका है। इसके साथ वॉलेट सर्विस जैसे – पेटीएम, फोनपे, गूगल पे, फ्री रिचार्ज आदि भी ओटीपी के द्वारा अपने यूजर को सुरक्षित रखते है।

एटीएम का ओटीपी कैसे प्राप्त करें ?

एटीएम पर अगर आप कोई सर्विस का उपयोग कर रहे तो इसके लिए ओटीपी माँगा जाता है। जैसे अगर आपका एसबीआई का अकाउंट है तो एटीएम से 10 हजार या इससे ऊपर पैसे निकालने के लिए OTP माँगा जाता है। इसके साथ ही एटीएम कार्ड का नई पिन जनरेट करने के लिए भी आपसे ओटीपी पासवर्ड पूछा जाता है। अगर आप भी एटीएम की किसी ऐसे सर्विस का उपयोग कर रहे है और एटीएम पर आपसे ओटीपी माँगा जा रहा है तब अपने बैंक खाते से रजिस्टर्ड मोबाइल पर sms बॉक्स चेक कीजिये। उसमें आपको ओटीपी प्राप्त हुआ होगा। इस otp के द्वारा आप एटीएम पर बैंकिंग सुविधाओं का उपयोग कर सकते है।

सारांश : OTP क्या होता है, इसकी पूरी जानकारी स्टेप by स्टेप सरल भाषा में यहाँ बताया गया है। हमें उम्मीद है कि इसे पढ़ने के बाद आप ओटीपी की पूरी जानकारी प्राप्त कर सके होंगे। अगर OTP से सम्बंधित आपके मन में कोई अन्य सवाल हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। हम बहुत जल्दी आपको रिप्लाई करेंगे।

ओटीपी क्या है, इसकी जानकारी हम सभी के लिए काफी उपयोगी है। लेकिन ज्यादातर लोग इसके बारे में नहीं जानते है। इसलिए इस पोस्ट को सोशल मीडिया जैसे व्हाट्सएप्प एवं फेसबुक पर शेयर जरूर कीजिये। इससे ज्यादा से ज्यादा लोग इस महत्वपूर्ण सुविधा के बारे में जान सकेंगे। इस वेबसाइट पर ऐसे ही उपयोगी जानकारी प्रदान किया जाता है। अगर आप ऐसे ही नई अपडेट सबसे पहले पाना चाहते हो तो गूगल पर myandroidcity.com सर्च करके इस वेबसाइट पर आ सकते हो।

2 thoughts on “OTP क्या होता है ? ओटीपी की पूरी जानकारी”

अपनी समस्या या सुझाव यहाँ लिखें